Posts tagged ‘है



Hindustan हिंदी मिथिला संस्कृति में है मिठास : अनुराधा पौडवालHindustan हिंदीमिथिला की संस्कृति को अक्षुण्ण बनाए रखने के लिए बिहार सरकार का सहयोग काफी प्रशंसनीय है। मिथिला की संस्कृति और भाषा अद्भुत एवं मिठास वाली है। विद्यापति राजकीय महोत्सव में आ कर बहुत अच्छा लगा। मैंने देखा है कलाकारों का यहां के श्रोता काफी सम्मान […]

Hindustan हिंदी मिथिला प्रदेश विकास के मायने में अभी भी है उपेक्षितHindustan हिंदीमिथिला प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने, सुपौल में कृषि आधारित उद्योग लगाने, सरकारी और गैर सरकारी कार्यालयों में सभी काम मैथिली में करने आदि मांगों को लेकर प्रगतिशील मिथिला समाज के बैनर तले धरना दिया गया। कलेक्ट्रेट के पास सोमवार को हुए धरना कार्यक्रम […]

दैनिक जागरण कोजागरा: मिथिला के लिए खास है आज की रात, जानिएदैनिक जागरणआश्विन की पूर्णिमा यानी शरद पूर्णिमा मिथिला के लिए खास है। इस दिन विशेष पर्व कोजागरा मनाया जाता है। यह गुरुवार को है। इसे लेकर उत्साह का माहौल है। चांदनी रात में नवविवाहितों के यहां जश्न का माहौल रहेगा। लोगों में मखाना व […]

Hindustan हिंदी न्याय और दर्शन शास्त्र का उद्भव स्थान है मिथिलाHindustan हिंदीमिथिला में न्याय दर्शन की परम्परा वर्षों पूर्व से रही है। न्याय और दर्शन शास्त्र का मिथिला उद्भव स्थान रहा है। न्याय शास्त्र के आदि सूत्र कर्ता महर्षि गौतम यहीं जन्म लिये। मिथिला में ही नव्य न्याय की शुरुआत हुई । नव्य न्याय के […]

साहित्य की प्रत्येक विधा है संवाद: वीणादैनिक जागरणआधुनिक मैथिली साहित्यक शिल्प विषय पर केंद्रित संगोष्ठी में विषय प्रवर्तन करते हुए साहित्य अकादेमी मैथिली भाषा परामर्श मंडल की संयोजिका डॉ. वीणा ठाकुर ने कहा कि साहित्य की प्रत्येक विधा संवाद है। भाषा की सृजनात्मक ही साहित्य की विशेषता है। दो दिवसीय संगोष्ठी की शुरूआत विद्यापति रचित […]

गुड़िया हम शर्मिंदा हैं तेरे कातिल जिंदा हैअमर उजालाभाजपा कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन के दौरान गुड़िया हम शर्मिंदा है तेरे कातिल जिंदा है.. के नारे लगाए व प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर गुबार निकाला। इस मौके पर टैक्सी स्टैंड में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए जिलाध्यक्ष ने कहा कि जिस एसआईटी को गुड़िया के कातिलों को […]

मिथिलांचल में धूमधाम से मनाया जा रहा है मधुश्रावणी पर्वNews18 इंडियाबिहार के मिथिलांचल की महिलाएं विधा के क्षेत्र में अपनी अगल पहचान रखती हैं. इसका जीता जागता उदाहरण है मिथला का लोकपर्व मधुश्रावणी. इस पर्व में पुरोहित और यजमान दोनों ही महिलाएं होती हैं. मधुश्रावणी पूजा विवाह के बाद पहले सावन के नागपंचमी के दिन […]

सांस्कृतिक दृष्टि से मिथिला की भूमि हमेशा रही है उर्वरदैनिक जागरणमिथिला की धरती विद्वानों से भरी पड़ी है। डा. झा ने कहा कि पूर्व वर्षों की तरह इस वर्ष भी 04 मई को हर्षोल्लास के साथ धूमधाम से जानकी नवमी महोत्सव का आयोजन किया जाएगा। इस आयोजन को ऐतिहासिक एवं यादगार बनाने के लिए तैयारियों […]

Hindustan हिंदी EXCLUSIVE: मैथिली ठाकुर ने कहा, 'शास्त्रीय संगीत मेरी ताकत है'Hindustan हिंदीदि राइजिंग स्टार रियालिटी शो की फाइनलिस्ट मैथिली फाइनल में किसी शास्त्रीय गीत को आधुनिक अंदाज में पेश करेंगी। उनका मानना है कि यहां तक पहुंचना ही उनके लिए बहुत बड़ी बात है और उन्हें कई रास्ते खुले नजर आ रहे हैं। दि […]

News18 इंडिया इस डीएसपी को पिस्टल के साथ पेंटिंग ब्रश चलाने में भी हासिल है महारतNews18 इंडियापुलिस के हाथों में बंदूक और लाठियां आम बात है लेकिन मधुबनी की एक डीएसपी के हाथों में खूबसूरत रंगों का ब्रश भी रहता है. डीएसपी आवास मे घूसने से ही मिथिला की खुशबू आने लगती है. बागवानी और […]

Page 1 of 212

About Mithila

Mithila is an ancient cultural region of South Nepal and North India lying between the lower ranges of the Himalayas and the Ganges River. The Nepal border cuts across the top fringe of this region. The Gandak and Kosi Rivers are rough western and eastern boundaries of Mithila. The Ramayana records a dynastic marriage between Prince Rama of Ayodhya and Sita, the daughter of Raja Janak of Mithila. The town of Janakpur, in the northern Nepali section of Mithila, is believed to be Janak's old capital.

Archives