Posts tagged ‘मैथिलीशरण



अमर उजाला मैथिलीशरण गुप्त – नर हो, न निराश करो मन को…अमर उजालाहिंदी के कवि मैथिलीशरण गुप्त का जन्म 3 अगस्त 1886 को झांसी में हुआ। वे खड़ी बोली के पहले कवि माने जाते हैं। पंडित महावीर प्रसाद द्विवेदी जी की प्रेरणा से मैथिलीशरण गुप्त ने खड़ी बोली में कविताएं लिखीं। उन्होंने अपनी कविता के […]

अमर उजाला Poet Maithili Sharan Gupt Birthday 3 July – मैथिलीशरण गुप्त …अमर उजालाPoet maithili sharan gupt birthday 3 july, 3 अगस्त को मैथिलीशरण गुप्त का जन्मदिन है। उन्होंने अपनी कविता के ज़रिए खड़ी बोली को …Birth Anniversary Special Story On National Poet Maithili Sharan …Firstpost Hindiऐसे कलमनिगार जो आधुनिक हिंदी कविता के कहलाये राष्ट्रकविआज तकसभी […]

अमर उजाला बर्थडे स्पेशल- मैथिलीशरण गुप्त: नर हो, न निराश करो मन को…अमर उजालाहिंदी के कवि मैथिलीशरण गुप्त का जन्म 3 अगस्त 1886 को झांसी में हुआ। वे खड़ी बोली के पहले कवि माने जाते हैं। पंडित महावीर प्रसाद द्विवेदी जी की प्रेरणा से मैथिलीशरण गुप्त ने खड़ी बोली में कविताएं लिखीं। उन्होंने अपनी कविता […]

India.com हिंदी कवि मैथिलीशरण गुप्त का आज है जन्मदिनIndia.com हिंदीभारत दर्शन की काव्यात्मक प्रस्तुति 'भारत-भारती' के प्रणेता राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त खड़ी बोली के प्रथम महत्वपूर्ण कवि हैं। वह कबीर दास के भक्त थे। पंडित महावीर प्रसाद द्विवेदी की प्रेरणा से उन्होंने खड़ी बोली को अपनी रचनाओं का माध्यम बनाया। मैथिलीशरण गुप्त का जन्म 3 अगस्त, […]

About Mithila

Mithila is an ancient cultural region of South Nepal and North India lying between the lower ranges of the Himalayas and the Ganges River. The Nepal border cuts across the top fringe of this region. The Gandak and Kosi Rivers are rough western and eastern boundaries of Mithila. The Ramayana records a dynastic marriage between Prince Rama of Ayodhya and Sita, the daughter of Raja Janak of Mithila. The town of Janakpur, in the northern Nepali section of Mithila, is believed to be Janak's old capital.

Archives