स्मृतिः मैथिली शरण गुप्त, जिन्होंने खड़ी बोली को दी पहचान – अमर उजाला

अमर उजाला स्मृतिः मैथिली शरण गुप्त, जिन्होंने खड़ी बोली को दी पहचानअमर उजालाराष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त की ये पंक्तियां हर किसी के दिल में देशप्रेम का ज्वार भरने के लिए काफी हैं। जब देश में आजादी का आंदोलन जोर मार रहा था तब मैथिलीशरण जी की कविताएं आजादी के मतवालों के दिलों में जोश और उत्साह […]

Continue Reading

मैथिलीशरण गुप्त – नर हो, न निराश करो मन को… – अमर उजाला

अमर उजाला मैथिलीशरण गुप्त – नर हो, न निराश करो मन को…अमर उजालाहिंदी के कवि मैथिलीशरण गुप्त का जन्म 3 अगस्त 1886 को झांसी में हुआ। वे खड़ी बोली के पहले कवि माने जाते हैं। पंडित महावीर प्रसाद द्विवेदी जी की प्रेरणा से मैथिलीशरण गुप्त ने खड़ी बोली में कविताएं लिखीं। उन्होंने अपनी कविता के […]

Continue Reading

Poet Maithili Sharan Gupt Birthday 3 July – मैथिलीशरण गुप्त … – अमर उजाला

अमर उजाला Poet Maithili Sharan Gupt Birthday 3 July – मैथिलीशरण गुप्त …अमर उजालाPoet maithili sharan gupt birthday 3 july, 3 अगस्त को मैथिलीशरण गुप्त का जन्मदिन है। उन्होंने अपनी कविता के ज़रिए खड़ी बोली को …Birth Anniversary Special Story On National Poet Maithili Sharan …Firstpost Hindiऐसे कलमनिगार जो आधुनिक हिंदी कविता के कहलाये राष्ट्रकविआज तकसभी […]

Continue Reading

बर्थडे स्पेशल- मैथिलीशरण गुप्त: नर हो, न निराश करो मन को… – अमर उजाला

अमर उजाला बर्थडे स्पेशल- मैथिलीशरण गुप्त: नर हो, न निराश करो मन को…अमर उजालाहिंदी के कवि मैथिलीशरण गुप्त का जन्म 3 अगस्त 1886 को झांसी में हुआ। वे खड़ी बोली के पहले कवि माने जाते हैं। पंडित महावीर प्रसाद द्विवेदी जी की प्रेरणा से मैथिलीशरण गुप्त ने खड़ी बोली में कविताएं लिखीं। उन्होंने अपनी कविता […]

Continue Reading

जयंती पर याद किए गए राष्ट्रकवि मैथिली शरण गुप्त – दैनिक जागरण

जयंती पर याद किए गए राष्ट्रकवि मैथिली शरण गुप्तदैनिक जागरणभराष्ट्रकवि मैथिली शरण गुप्त की जयंती पर एक समारोह का आयोजन स्थानीय मदन जी का हाता में प्रो. गदाधर ¨सह की अध्यक्षता में किया गया। समारोह का उद्घाटन करते हुए प्रो.बलिराज ठाकुर ने गुप्त जी को सांस्कृतिक चेतना का कवि बताते हुए कहा कि वे राष्ट्रीय […]

Continue Reading

स्मरणः मैथिली शरण गुप्त, जिन्होंने खड़ी बोली को दी पहचान – अमर उजाला (प्रेस विज्ञप्ति) (ब्लॉग)

अमर उजाला (प्रेस विज्ञप्ति) (ब्लॉग) स्मरणः मैथिली शरण गुप्त, जिन्होंने खड़ी बोली को दी पहचानअमर उजाला (प्रेस विज्ञप्ति) (ब्लॉग)राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त की ये पंक्तियां हर किसी के दिल में देशप्रेम का ज्वार भरने के लिए काफी हैं। जब देश में आजादी का आंदोलन जोर मार रहा था तब मैथिलीशरण जी की कविताएं आजादी के मतवालों […]

Continue Reading

कवि मैथिलीशरण गुप्त का आज है जन्मदिन – India.com हिंदी

India.com हिंदी कवि मैथिलीशरण गुप्त का आज है जन्मदिनIndia.com हिंदीभारत दर्शन की काव्यात्मक प्रस्तुति 'भारत-भारती' के प्रणेता राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त खड़ी बोली के प्रथम महत्वपूर्ण कवि हैं। वह कबीर दास के भक्त थे। पंडित महावीर प्रसाद द्विवेदी की प्रेरणा से उन्होंने खड़ी बोली को अपनी रचनाओं का माध्यम बनाया। मैथिलीशरण गुप्त का जन्म 3 अगस्त, […]

Continue Reading